कुंडली के यह योग देते है व्यक्ति को मान सम्मान !

कुंडली के यह योग देते है व्यक्ति को मान सम्मान !

लेखक: सोनू शर्मा

संसार में प्रत्येक व्यक्ति चाहता है की समाज में उसे प्रतिष्ठा, मान सम्मान मिले तथा वह अपनी पहचान बनाए लेकिन जरुरी नहीं है सबके जीवन में ऐसा हो, कभी कभी ऐसा होते है की अच्छे आचरण वाले व्यक्ति को भी सम्मान नहीं मिलता तथा बुरे व्यक्ति को भी सम्मान मिल जाता है । आइये जानने का प्रयास करते है की कुंडली में ऐसे कौन से बिंदु होते है जो व्यक्ति के मान सम्मान को दर्शाते है –

- यदि द्वितीय भाव , गुरु द्वारा दृष्ट हो तो यह जातक की प्रसिद्धि का सूचक है क्योंकी गुरु प्रतिष्ठा का सूचक है ।

- किसी कुंडली में यदि लग्नेश लग्न में स्थित हो तो ऐसा व्यक्ति अपनी पहचान बनाता है तथा समाज में सम्मान पाता है ।

- यदि कुंडली में मकर लग्न में पंचम में उच्च का चन्द्रमा हो तो ऐसे व्यक्ति का समाज में ऐश्वर्य बढ़ता है ।

- यदि धनु लग्न हो और दुसरे भाव में राहु स्थित हो तो ऐसे जातक को घर में सम्मान नहीं मिलता और बाहर के लोगो से सम्मान मिलता है ।

- किसी कुंडली में यदि धनु राशि में बलवान बुध हो तो ऐसा जातक राजा के द्वारा सम्मान प्राप्त करता है ।

- यदि जातक की कुंडली में लग्न, सूर्य तथा चंद्र तीनों ही बलिष्ठ हो तो जातक प्रसिद्ध, प्रतिष्ठित होता है तथा विदेश में भी सम्मान प्राप्त करता है ।

- यदि सूर्य अपने नवांश में तथा चंद्र स्वराशि में स्थित हो तो जातक शासक होता है ।

- यदि किसी की कुंडली में अष्टमेश और लग्न भाव, दशमेश से बलिष्ठ हो तो जातक सार्वजानिक निंदा का पात्र होता है ।