फेंगशुई के अनुसार घर के दरवाजे बनवाने में ध्यान रखें ये नियम!

583.jpg

लेखक: सोनू शर्मा

फेंगशुई के अनुसार जब हम घर का निर्माण करते है तो हमे दरवाजे का निर्माण कराते वक़्त बहुत ध्यान रखना चाहिए । जितना जरुरी भवन निर्माण कराना है उतना ही जरुरी है दरवाजों का निर्माण करवाते हुए सावधानियाँ रखना ।

  • दरवाजा घर का वह हिस्सा होता है जहाँ से ऊर्जा का प्रवेश घर में होता है, उसी के अनुसार उस घर में रहने वाले सदस्यों की सुख शांति निर्भर करती है ।

  • घर के मुख्य दरवाजों पर कोई न कोई मांगलिक चिन्ह अवशय बनाना चाहिए जिसके माध्यम से सकारात्मक ऊर्जा घर में प्रवेश करती है ।

  • दरवाजों की संख्या हमेशा सम होनी चाहिए क्योकि सम संख्या शुभ मानी जाती है, इसी प्रकार मुख्य द्वार बनाते समय यह ध्यान रखे की वह हमेशा अंदर की ओर ही खुलना चाहिए ।

  • यदि भवन आमने सामने है तो ध्यान रखे दोनों भवनों के दरवाजे एक दम सामने न खुले, उसको थोड़ा आगे पीछे कर देना चाहिए क्योकि ऐसा अशुभ माना जाता है ।

  • घर में हवा ठीक प्रकार आए, रौशनी पर्याप्त हो तथा घर में ऊर्जा का संचार भी अच्छा हो इसके लिए दरवाजे हमेशा उत्तर दिशा व पूर्व दिशा की ओर ही होना चाहिए ।

  • दरवाजे को खोलते समय या बंद करते समय आवाज़ नहीं आनी चाहिए इससे नकारात्मक ऊर्जा का घर में प्रवेश होता है । कभी - कभी दरवाजे हवा से अपने आप खुल जाते है, यह अशुभ माना जाता है ।

  • घर के मुख्य दरवाजे के सामने कोई पेड़ नहीं होना चाहिए, न ही कोई खम्बा होना चाहिए । घर के दरवाजे के सामने मंदिर होना भी ठीक नहीं माना जाता ।