जानिए क्या कहती हैं दीपिका और रणवीर की जन्म कुण्डलियाँ

By: Amit Khare

साल की सबसे चर्चित शादियों में से एक शादी है दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह की। लगभग पाँच साल तक एक दूसरे को डेट करने के बाद आखिरकार दोनों  14 नवम्बर 2018 को इटली के लेक कोमो में शादी के बंधन में बंध गये थे। क्योंकि दीपिका दक्षिण भारत से ताल्लुक रखती हैं इसलिए 14 तरीक को पहले कोंकणी परंपरा और उसके बाद अगले ही दिन 15 तारीक को रणवीर सिंह के सिन्धी होने की वजह से सिन्धी रीति-रिवाजों के अनुसार दोनों की शादी संपन्न हुयी थी। दोनों के बीच संजय लीला भंसाली की फिल्म रामलीला के दौरान नजदीकियां बढीं। दोनों साथ में तीन फ़िल्में कर चुके हैं और इत्तेफाकन तीनों ही फिल्म संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित हैं।

  

ज्योतिष विद्वानों के अनुसार दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह की कुंडलियों के आधार पर कुछ ऐसा रहेगा उनका वैवाहिक जीवन:

ज्योतिष विद्या के अनुसार यह अनुमान लगाया जा रहा है शादी के बाद दोनों में कुछ कारणों के चलते दूरियां बढ़ सकती हैं। दोनों की कुंडली में ग्रहों की स्थिति को  देखते हुए ऐसा माना जा रहा है कि आगे चलकर दोनों के बीच अलगाव हो सकता है। आइये जानते हैं ग्रहों की स्थिति का उनकी शादी पर कैसा असर पड़ेगा।

रणवीर सिंह का जन्म 6 जुलाई 1985 को हुआ था और उस समय की चन्द्र की स्थिति के आधार पर उनकी राशि कुंभ है। दीपिका पादुकोण का जन्म 5 जनवरी 1986 को हुआ था और तुला उनकी राशि है। तुला लग्न में मंगल, चन्द्रमा, केतु, द्वितीय भाव में शनि, तृतीय में सूर्य, बुध, शुक्र, चतुर्थ में गुरु एवं सप्तम भाव में राहू विराजमान है। लग्न में मंगल और केतु साथ-साथ मौजूद हैं। मंगल के साथ केतु मांगलिक प्रभाव को कम कर रहा है।

रणवीर सिंह की जन्म कुण्डलि

दीपिका पादुकोण की जन्म कुण्डलि

तुला राशि के जातक मेहनती और अनुशासित होते हैं। यह दोनों ही खूबियाँ दीपिका पादुकोण में मौजूद हैं। वहीं दूसरी ओर कुंभ राशि के जातक लोगों को अपने व्यवहार से प्रभावित करते हैं, उन्हें अपनी ओर आकर्षित करते हैं, जिसमें रणवीर सिंह माहिर हैं। दोनों की जन्म कुंडलियों के आधार पर दोनों का स्वामी गृह राहू है। इस समानता के अनुसार दोनों में सामंजस्य अच्छा बैठेगा। इनकी शादी के पीछे इनकी कुंडलियों के ग्रहों का भी बड़ा हाथ रहा है। आम तौर पर गृह-नक्षत्रों के ताल-मेल के कारण इनके वैवाहिक जीवन में कोई दुविधा आनी तो नहीं चाहिए फिर भी यदि कोई परेशानी आती है तो दोनों अपनी सूझबूझ से उसे सुलझा लेंगे। हालाँकि एक ही प्रोफेशन से ताल्लुकात रखने के कारण इनके जीवन में थोड़े बहुत उतार-चढ़ाव हो सकते हैं।

दीपिका पादुकोण की कुंडली के सातवें घर में राहू की मौजूदगी भी इनके संबंधों में खटास का कारण बन सकती है। दीपिका की कुंडली में पति का कारक गृह ब्रहस्पति मकर राशि में विराजमान है। मकर राशि में ब्रहस्पति नीच राशि है जिसके कारण महिला की शादीशुदा जिंदगी में दिक्कतें आ सकती हैं। दोनों को अपने जन्म अंकों के अनुसार क्रोध पर काबू रखने की आवश्यकता होगी।

दीपिका की कुंडली में प्रेम विवाह के योग थे। दोनों की कुंडली में गुरु नीच का है। शुक्र का बल मिलने के कारण उनके करियर को भाग्य का साथ मिलेगा। कुल-मिलाकर देखा जाए तो कुछ बाधाएं जरुर आएँगी लेकिन उनका वैवाहिक जीवन आनंदमयी रहेगा।