इस दिन भूलकर भी न तोड़े तुलसी के पत्ते, वरना हो जाएंगे कंगाल और बर्बाद!

985.jpg

लेखक: सोनू शर्मा


आपके देखा होगा की हर कोई अपने घर में तुलसी का पोधा जरूर लगाता है, तुलसी के पौधे को बहुत पवित्र और शुभ माना जाता है और तुलसी पर भगवान विष्णु की विशेष कृपा है । हिन्दू धर्म को मानने वाले लोग रोज तुलसी की पूजा करते है लेकिन अगर कुछ विशेष बातों का ध्यान न रखा जाए तो इसका प्रभाव नकारात्मक भी हो सकता है ।

हिन्दू शास्त्र के मुताबिक ऐसे कुछ दिन बताए गए है जिस दिन तुलसी के पत्तों को तोडना शुभ नहीं माना जाता और इसके विपरीत परिणाम मिलते है । हमारे शास्त्रों के अनुसार देखा जाए तो एकादशी के दिन, रविवार को, सूर्य ग्रहण के दिन और चंद्र ग्रहण के समय तुलसी के पत्ते गलती से भी नहीं तोड़ने चाहिए। वर्ना उस घर से लक्ष्मी चली जाती है और घर के लोग दरिद्र जो जाते है तथा व्यक्ति को भारी पाप लगता है ।

कभी भी सूर्यअस्त के बाद भी तुलसी के पत्तों को नहीं तोडना चाहिए, न छूना चाहिए और न ही पोधे में पानी डालना चाहिए । धार्मिक दृष्टिकोण के अलावा ये एक आयुर्वेदिक पोधा भी है और ये बहुत सी बीमारियों को ठीक करने में लाभदायक है जैसे की सर्दी, जुखाम, खासी इत्यादि । ऐसा कहा जाता है की ये पोधा घर पे आने वाली मुसीबत का भी संकेत देता है और घर पर मुसीबत आने से पहले उस घर की तुलसी सुख जाती है और नकारात्मक ऊर्जा को अपने अंदर समा लेती है ।