जानिये हथेली की त्वचा से क्या है आप के पार्टनर का स्वभाव?

789.jpg

लेखिका : रजनीशा शर्मा

ज्योतिषशास्त्र भारत का ऐसा ज्ञान है जिसे विश्व में सभी ज्ञानो में सबसे अधिक महत्व प्राप्त है | विश्व के कई लोगो को तो इस ज्ञान में इतनी दिलचस्पी हुई की उन लोगो ने अपना सारा जीवन ही इसके अध्ययन में लगा दिया | भारत के अनेको ज्ञान और विज्ञान को समय समय पर नष्ट करने के भी प्रयास हुए किन्तु भारत अपनी  प्राचीन परम्परा और ज्ञान को बनाये हुए है | व्यक्ति का हाथ देख कर ही उसके कई प्रकार के स्वभावो को जाना जा सकता है | आज ऐसे ही एक ज्ञान हस्तरेखा ज्ञान के आधार पर हम जानते है व्यक्तियों का स्वभाव -

 

 1 -   यदि किसी व्यक्ति के हाथ की त्वचा खुरदरी , मोटी और कठोर हो तो वह व्यक्ति कम बुद्धि वाला होता है | अपनी विवेकहीनता के कारण पशु समान व्यवहार करता है और उसका व्यवहार ,कार्य एवं चरित्र भी कर्कश एवं दोगला होता है ऐसे लोगो से सावधान रहना चाहिए ये जीवन के किस पड़ाव में क्या रूख अपनाएंगे कोई नहीं जानता | ऐसे व्यक्तियों का किसी भी काम में मन नहीं लगता | ये लोग छोटे बड़े का ध्यान ना रखते हुए मुंहफट एवं कर्कश प्रवृत्ति के होते है | ऐसे लोग जीवन यापन के लिए कठोर श्रम करते है और अपनी बुद्धि का प्रयोग ना कर बंधे हुए रास्तो पर चलते है ऐसे लोग स्वयं के साथ साथ दुसरो के लिए भी खतरे उत्पन्न  करते है |

 

2 - यदि किसी व्यक्ति की हथेलिया मुलायम , लचीली एवं लालिमा लिए हुए हो तो ऐसे व्यक्ति अपने ही बारे में अधिक सोचते है और मुसीबत आने पर भाग जाते है जब तक हर तरफ से ना घिरे हो समस्या का सामना नहीं करते | आखिरी रस्ते के  रूप में ही लड़ने को तैयार होते है | ये अत्यधिक कल्पनाशील होते है और शारीरिक श्रम से घबराते है मानसिक श्रम को ही ये अपने जीवन में अधिक महत्व देते है | इनकी महत्वकांक्षाये तो उच्च श्रेणी की होती है किन्तु मेहनत करना इन्हे पसंद नहीं ये भाग्य  के  भरोसे बैठ कर कल्पनाओ में खोये रहते है |

 

3 - जिन लोगो की हथेली की त्वचा न अधिक मोटी न नरम होती है और ना अधिक लचीली ना कठोर होती है उनका स्वभाव भी मिश्रित ही होता है |  ये अपने परिश्रम के बल पर सफलताएं प्राप्त करते है | ये स्वाभिमानी एवं  स्वावलम्बी  स्वभाव के होते है |  इनके निर्णय विवेक एवं बुद्धि के बल पर लिए गए होते है | ये जिस भी क्षेत्र में जाते है सफलता प्राप्त करते है | इनके कार्य विवेकपूर्ण , स्वच्छ एवं सुघड़ होते है | यदि ये आलसी ना हो तो ऐसा कुछ नहीं जो ये प्राप्त ना कर सके |