कृष्ण ने राधा से क्यूं नहीं किया था विवाह?

674.jpg

लेखक: सोनू शर्मा

जब भी राधा और श्री कृष्ण के बारे में बात होती है तब सबके दिमाग में ये सवाल जरूर आता है की राधा और कृष्ण का विवाह क्यों नहीं हुआ जब दोनों में इतना प्रेम था । इस सवाल को लेकर बहुत सी कहानियाँ प्रचलित है, ऐसा कहा जाता है की भगवान विष्णु धरती पर बार बार अवतार लेते थे और जब विष्णु जी अवतार लेते है तो उनकी पत्नी लक्ष्मी जी भी उनके साथ किसी न किसी रूप में अवतार लेती थी ।

जब विष्णु जी ने कृष्ण के अवतार में जन्म लिया तब लक्ष्मी जी ने भी रुक्मिणी का रूप लिया था। कहा जाता है कि रूकेमिनी ने राजा भीष्मत के यहां जन्म लिया था और जैसे पूतना कृष्ण को मारने गई थी वैसे ही पूतना रूकमिनी को भी मारने गई थी और जब वह रूकमिनी को उठा के ले जा रही थी तब रूक्मिनी अपना वज़न बढ़ा लेती है जिससे रूकमिनी मथुरा में एक सरोवर में गिर जाती है और वृषवान की नजर उस बच्ची पर जाती है जिसे वह अपनी बेटी बना लेते है और उसका नाम राधा रखते है, लेकिन जब भीष्मत को इसका पाता चलता है तो वह राधा को अपने राज्य ले जाते है और उसकी शादी कही और करवाने लगते है, तभी श्री कृष्ण रूक्मिनी जो कि राधा थी उनको उठा ले जाते है और उनसे शादी कर लेते है ।

लोगो को लगता है कि राधा और श्री कृष्ण की शादी नहीं हुई थी लेकिन राधा और रूक्मिनी एक ही थे और ये ये कहानी महाभारत में वर्नित है।