ज्योतिष के अनुसार सोने और चांदी के गहने पहनने के भी होते हैं नियम!

623.jpg

लेखक: सोनू शर्मा

ज्योतिष के अनुसार व्यक्ति के पैर को शनि का प्रतीक माना जाता है और सिर को सूर्य का प्रतीक माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि व्यक्ति का सिर ठंडा रहना चाहिए और पैर गर्म रहने चाहिए, इसी कारण सिर पर गोल्ड की ज्वेलरी तथा पैरों में चांदी की ज्वेलरी पहननी चाहिए । इसका विपरीत नहीं करना चाहिए अन्यथा स्त्रियों को पागलपन जैसी समस्या हो सकती है ।

  • कहा जाता है की पैरों में चांदी की पायल पहनने से शरीर ठीक रहता है तथा स्त्री को पीठ दर्द, एड़ी व घुटनों के दर्द में लाभ होता है ।

  • गुरु ग्रह सोने और कान को दर्शाता है इसलिए यदि स्त्री कान में सोने के एयरिंग्स पहने को कान के रोग, हिस्टीरिया आदि रोगों से राहत मिलती है।

  • अगर किसी व्यक्ति को मान-सम्मान न मिलता हो तो ऐसे लोगों को अपनी अनामिका ऊँगली में सोने की अंगूठी पहननी चाहिए ।

  • यदि किसी का गुरु ग्रह खराब हो तथा उसे बार बार पीलिया रोग होता है, तो उस व्यक्ति को बिना ज्योतिष से सलाह किए सोना धारण नहीं करना चाहिए ।

  • दांपत्‍य जीवन में खुशाली के लिए पति और पत्नी दोनों को सोने की चेन पहननी चाहिए ।

  • यदि किसी को शादी के बहुत टाइम बाद तक भी संतान नहीं हो रही है तो उसे अपनी अनामिका ऊंगली में सोने की अंगूठी पहननी चाहिए ।

  • यदि किसी के बच्चे उनकी बाते नही मानते तो उन बच्चो की माता को सोना पहनना चाहिए।