अपने धन को धार्मिक कार्यो में लगाते है मीन लग्न के जातक!

620.jpg

लेखक: सोनू शर्मा

मीन लग्न का स्वामी गुरु होता है । ऐसे व्यक्तियों का शरीर स्थूल, रंग गोरा, माध्यम कद काठी, शरीर मजबूत होता है । इनके नेत्र सुन्दर होते है, ऐसे व्यक्तियों का सिर, नाक व पेट बड़ा तथा कंधे मजबूत होते है।

ऐसे व्यक्ति आत्मविश्वास से भरपूर होते है तथा इनकी कल्पना शक्ति उत्कृष्ट होती है, इनकी रूचि सृजनात्मक कार्यो के प्रति अधिक होती है, इनको प्रायः कर धर्म में रूचि होती है इसीलिए ये अक्सर तीर्थस्थलों की यात्रा करते है क्योकि गुरु ग्रह ब्राह्मण वर्ण के अंतर्गत आता है । इन्हे दान देना, लोगो की मदद करने में तथा धार्मिक क्रियाकलापों में ये रूचि लेते है । समाज के लोग इन्हे मान - सम्मान तथा इज्जत देते है

ये हमेशा कोई भी कार्य करते समय यह ध्यान रखते है कि पारिवारिक परम्पराएँ व मान्यताओं का उल्लंघन न हो जाए । ये बहुत दयालु, भावुक तथा संवदेनशील होते है इसलिए सबके साथ सहानुभूति पूर्ण व्यव्हार करते है तथा किसी के मन को ठेस नहीं पहुचाते । गुरु ग्रह सात्विक होता है इसीलिए यह अपने धन को धार्मिक कार्यो में लगाते है । संगीत के प्रति इनका रुझान अधिक होता है इसलिए ये संगीतकार या अभिनेता का व्यवसाय पसंद करते है ।

इनकी सबसे बड़ी विशेषता है कि यह दूसरों कि बात को बहुत ध्यान से सुनते है तथा उनकी भावनाओं को सम्मान करते है । जरुरत पड़ने पर यह हर कार्य स्वयं करना पसंद करते है तथा दूसरों कि मदद नहीं लेते । इनको बदलाव पसंद है तथा यह जीवन शैली में परिवर्तन पसंद करते है ।