समुद्र शास्त्र के अनुसार अंगूठा भी बताता है आपका व्यक्तित्व!

484.jpg

लेखक: सोनू शर्मा

भारतीय ज्योतिष में समुद्रशास्त्र के माध्यम से किसी भी व्यक्ति के अंगूठे को देखकर उसके बारे में बहुत कुछ जाना जा सकता है । अंगूठे का आकार, उसके मुड़ने का तरीका, उसकी लम्बाई मोटाई व अंगूठे के द्वारा बनने वाले कोण उसके व्यक्तित्व का पूरा विश्लेषण कर देते है ।

- अंगूठे में एक पोर होता है जो उसको दो भागों में विभाजित करता है, ऊपर का भाग उस व्यक्ति की किसी भी काम के प्रति गंभीरता को दर्शाता है, वहीं नीचे का भाग उसकी मानसिक स्थिति के बारे में बताता है । यदि किसी व्यक्ति के अंगूठे के नीचे का भाग छोटा हो तो ऐसा व्यक्ति दूरदर्शी नहीं होता, वह कोई भी निर्णय बिना सोच विचार के करता है । वहीं बड़ा भाग उसकी बुद्धिमता तथा कार्य कुशलता को बताता है ।

- बड़े अंगूठे वाले लोग अक्सर कला के पुजारी होते है, वे बुद्धिमान, तार्किक तथा ताकतवर होते है, वहीं पतले अंगूठे वाले लोग परिवार में, समाज में इज्जत पाते है और लोग उन्हें पसंद करते है । यदि अंगूठे चपटा हो तो ऐसे लोग बहुत जल्दी हार मानने वाले होते है तथा उनका स्वभाव निराशाजनक होता है । मोटे अंगूठे वाले लोग कठोर फैसले लेने वाले होते है, एक बार जो फैसला ले लेते है अंत तक उस पर अडिग रहते है ।

- जिन व्यक्तियों का अंगूठा चौकोर होता है वह खर्चीले स्वभाव के होते है, उनके पास पैसा नहीं टिकता । छोटे अंगूठे वाले लोग अपने साथी का प्यार नहीं पाते, वह सदा असंतुष्ट रहते है तथा कोई भी फैसला लेने की काबिलियत नहीं रखते । जिन लोगो का अंगूठा आसानी से मुड़ जाता है वह अपने आप को किसी भी परिस्थिति में आसानी से ढाल लेते है, उनमे सूजबूझ से फैसले लेने की क्षमता होती हैं ।