भूत- प्रेत भगाए जाते है इन मंदिरों में

1478.jpg

By: Deepika Dwivedi

जीवन में कभी-कभी हमें हमारे आस-पास अजब-गजब की चीज़े दिखाई देती है। जिस पर विश्वास करना एक खुद को धोखा देने सा लगता है। जी हां हमारे आस-पास लोगों से भूत-प्रेत , पिशाच , डायन इन सब का जिक्र करते हुए कई बार सुना होगा। भले ही आप ने स्वंय ऐसी चीज प्रत्यक्ष रूप से ना देखी हो लेकिन यदि आपके सामने कोई बार-बार ऐसी बातों का जिक्र करता है तो कहीं ना कहीं हमारा दिमाग भी उस चीज़ को मानने को तैयार हो जाता है।

लोगों के अनुसार भूत-प्रेत जैसी इन समस्याओं के होने के बाद इसका समाधान भी है। पढ़े-लिखे लोग इन्हें अंधविश्वास करार देते है तो इन सब चीज़ों से ग्रसित लोग पूरी श्रद्धा रखते है। यदि इस संसार में कोई व्यक्ति भूत-प्रेत से पीड़ित हो तो उसका इलाज भारत देश के इन मन्दिरों में कराया जाता है। तो चलिए बताते है आपकों कि कौन-कौनसे है वो मन्दिर ।


  1. मध्यप्रदेश का देवजी महराज मन्दिर-


भूत-पिशाच भगाने के लिए मध्यप्रदेश का देवजी महराज मन्दिर में चांदनी रात के दिनों में ऐसे लोगो को लाया जाता है जिनके ऊपर भूत-प्रेत जैसी बिमारियों का साया होता है। ऐसे में देवजी महाराज के मन्दिर के पुजारी उन भूत-प्रेत के साये को उतारने के लिए पवित्र झाडू से उतारते है। जिसे झाड़ा कहते है। मान्यता अनुसार भूत-प्रेत देवजी महाराज मन्दिर की इस झाड़ू से डरते है। आपकों बता दें कि इस मन्दिर में हर साल भूत मेला भी लगाया जाता है। इस मन्दिर में आए लोगों की हरकते बेहद ही भयावह होती है। और इसका कारण फिर भूत-प्रेत को मानना जैसा हो जाता है।

2. गुजरात का श्री कष्टभंजन देव हनुमानजी का मन्दिर –

गुजरात का श्री कष्टभंजन देव हनुमानजी का मन्दिर भी लोगों पर से बुरी आत्माओं का साये से छुटकारा दिलाता है। इस मंदिर से सालों से लोगों पर से भूत उतारा जाता है। लोगों का इस मन्दिर पर सालों से विश्वास बना हुआ है।

3. चैनपुर का संत साबिर शाह दरगाह


मन्दिर ना सिर्फ बल्कि कुछ दरगाह भी ऐसी बनी हुई है जिससे लोगों पर भूत-प्रेत, डायन, चुडैल आदि का साया उतारा जाता है। इन बुरी आत्माओं के साये वाले लोगो को दिवार से बांधकर इलाज किया जाता है।


4. मध्यप्रदेश में स्थित दत्तात्रेय मन्दिर

मध्य प्रदेश में स्थित दत्तात्रेय मन्दिर में यहां पर पूर्णिमा और अमावस्या के दिन होने वाली महामंगल आरती के लिए आते है। यहां पर भूत-पिशाचों के चिखने-चिल्लाने का आवाजें सुनने का कई बार दावा किया गया है।

5. गुजरात का हजरत सईद अली मीरा दतर दरगाह

इस दरगाह में हर धर्म के लोग आते हैं। आसपास के गांवों से ऐसे लोगों को लाया जाता है जिनके बारे में ये दावा किया जाता है कि उनपर किसी और का साया है। इस दरगाह में ज्यादातर महिलाओं को ही ठीक करवाने के लिए लाया जाता है।  

6. राजस्थान का मेहंदीपुर बालाजी का मन्दिर

ये भारत का अकेला मंदिर है जहां भूतों को भगाने के लिए प्रत्यक्ष रूप से अनुष्ठान किए जाते हैं। हर दिन यहां हजारों लोग आते हैं। भूत भगाने के लिए लोगों के ऊपर खौलता पानी डालते हैं। इसके अलावा मंदिर की दीवारों से लोगों को बांधकर भूत भगाए जाते हैं। माना जाता है कि इस जगह पर कई प्रेत-आत्माएं रहती हैं।  

7. दिल्ली में स्थित निजामुद्दीन दरगाह-

देश की राजधानी दिल्ली में भूत भगाने का स्थान है। इस दरगाह में बना एक कमरे के अन्दर से लोगों के चीखने-चिल्लाने की आवाजें आती हैं। कई लोगों का ऐसा मानना है कि दरगाह के कमरे में भूत भगाने के लिए साधना की जाती है।

8. हरिद्वार का चंडी देवी मन्दिर

उत्तराखंड का सबसे पवित्र स्थल हरिद्वार में भी भूत भगाने का चंड़ी देवी मन्दिर माना जाता है। चंडी  देवी को क्रोध की देवी कहा जाता है इसलिए यहां पर आए लोगों से भूतों का साय स्वत ही दूर हो जाता है।