क्या सूर्यास्त के बाद नाखून काटना अशुभ होता है?

1215.jpg
By: Sonu Sharma 

हिन्दू धर्म में ऐसे हजारों नियम हैं जिसका वैज्ञानिक कारण है लेकिन लोग उनको धर्म के जोड़कर देखते है, बहुत से ऐसे नियम है जो पुराने समय से चले आ रहे है और सैकड़ों-हजारों वर्षों के अनुभव के आधार पर विकसित हैं। उन्हीं नियमो से में से एक है संध्या के समय नाखूनों को न काटना ।

अक्सर घर के बड़े बुजुर्ग कहते है की सूर्यास्त के बाद नाखून नहीं काटना चाहिए और घर के अंदर नाख़ून नहीं काटने चाहिए, ऐसा करना अशुभ होता है और इससे लक्ष्मी दूर होती है ।कुछ लोगो का यह भी कहना है की नाख़ून सिर्फ नाइ से ही कटवाने चाहिए । प्राचीन काल से ही ये  नियम बने हुए हैं और बहुत से लोग आज भी इनका पालन करते है । जानते है सूर्यास्तके बाद नाखून काटना शुभ होता है या नहीं ?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार भी सूर्य अस्त होने के बाद नाखून काटना अच्छा नहीं होता, ऐसा करने से घर में नकारात्मकता आती है तथा लक्ष्मी रुठ जाती है । इस बात को  स्वच्छता सेजोड़कर भी देखा जाता है और माना जाता है की घर के बहार ही नाखून काटने चाहिए । घर में नाख़ून काटने से वह इधर-उधर फैल सकते है और खाने में गिर सकते हैं जो हमारे स्वास्थ के लिए ठीक नहीं होता ।

पुराने ज़माने में बिजली के अभाव के कारण भी लोग नाख़ून दिन के समय सूरज की रौशनी में काटते थे । उस ज़माने में लोग नेलकटर की बजाय चाकू, ब्लेड या किसी अन्य धारदार हथियारों से हीं अपने नाखूनों को काटा करते थे । बिजली के अभाव में संध्या के समय पर्याप्त रौशनी न होने के कारण नाख़ून काटते समय चोट लगने के डर के कारण भी लोग सूर्यास्त केबाद नाखून नहीं काटते थे ।

हम भी आपको यही सलाह देते है की नाखूनों को घर के बाहर या फिर बाथरूम में ही काटे ताकि वह घर में न फैले ।