घर में लगा गलत आईना करा सकता है आपका तलाक

1115.jpg

हर घर में आईने का अपना एक अलग ही महत्व है | आईने के सामने खड़े होकर खुद को निहारना , बाते करना भला किसे पदंस नहीं होगा | अक्सर आम जिंदगी में होता है कि हम बार बार आईने में खुद को देखते है और संतुष्ट होते है | पर क्या आप जानते है की घर में आईने अगर गलत जगह तो आप के जीवन को तहस नहस कर देते है | तो चलिए आप को बताते है घर में आईने की सही जगह |

  1. आईने को गलती से कभी भी घर के दक्षिण दिशा में नहीं लगाना चाहिए।यह दिशा यम की दिशा मानी जाती है। इस दिशा में आईना लगाने से नकारात्मक ऊर्जा फैलती है । इससे घर में क्लेश रहता है | आईना सदैव उत्तर अथवा पूर्व दिशा की दीवार पर लगाना शुभदायक होता है।
  2. घर में नुकीले अथवा तेजधार वाले आईने नहीं लगाने चाहियें ये हानिकारक होते है | और साथ हीगोल आकृति का आईना घर के लिए बिलकुल भी अनुकूल नहीं होता। आयताकार और वर्गाकार दर्पण का प्रयोग वास्तु के हिसाब से सबसे अच्छा होता है|
  3. इस बात का हमेशा ख्याल रखे की आईने पर धूल मिट्टी नहीं जमने दें | यह कई तरह के रोगों को आमंत्रित करता है | इसीलिए आइना हमेशा साफ़ और सुन्दर रखे |
  4. आईने से जुडी सबसे महत्त्व पूर्ण बात ये है की आइना बेड रूम में बिस्तर के ठीक सामने नहीं होना चाहिए |ऐसा माना जाता है कि इससे पति-पत्नी को कई स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां झेलनी पड़ती है।
    5.बिस्तर के ठीक सामने आइना होने से पति-पत्नी के दांपत्य जीवन में भारी तनाव पैदा होता है। इसके कारण पति-पत्नी के अच्छे भले सम्बन्धों के बीच किसी तीसरे व्यक्ति का प्रवेश भी हो सकता है।
  5. बिस्तर पर एक साथ सो रहे पति पत्नी का प्रतिबिम्ब अगर आईने में झलक रहा है तो ये पति पत्नी के तलक का कारण भी बन सकता है | अगर मजबूरी में रखना भी पड़े तो इस बात का बेहद ख्याल रखे की आईना हमेशा ढाका होना चाहिए |
  6. इस बात का भी ख्याल रखना चाहिए की आईना घर में ना ही बहुत ऊपर हो और ना हीबहुत निचे | ऐसा होने से घर में शारीरिक तकलीफे दस्तक देती है |
  7. आइना जितना ही हल्का हो वास्तु के हिसाब से वो उतना ही अच्छा माना जाता है |
  8. आइना बच्चो के कमरे के लिए काफी लाभदायक होता है | बच्चे जहाँ पढाई कर रहें हों वहाँदीवाल पर आईना लगा दे |
  9. आईना खरीदते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि उसका फ्रेम किस रंग और किस आकार का है। क्योंकि इससे भी नकारात्मक ऊर्ज प्रवेश करती है। इसलिए कभी भी गर्म,ज्यादा गहरे रंग का फ्रेम न लेकर हल्के रंग जैसे कि नीला, सफेद, हरा, क्रीम आदि रंग ले। साथ ही कभी भी गोल आकार का शीशा न लें।