विदुर नीति – इन तरीको से कमाया गया धन नहीं टिकता!

1111.jpg
लेखक: सोनू शर्मा

महाभारत में विदुर नीति का बहुत खास वर्णन किया गया है, ये नीतियां उस समय में भी बहुत महत्व रखती थी और आज के समय के में भी ये बहुत उपयोगी हैं। विदुरजी ने अपनी नीतियों में बहुत ही महत्वपूर्ण बाते बताई है जिनसे यदि व्यक्ति अवगत हो तो वह जीवन में असफल नहीं होगा और सुखी रहेगा । इन्हीं नीतियों में से एक में उन्होंने ऐसे लोगों के बारे में बताया है, जो चाहे कितनी भी मेहनत करें लेकिन यदि उन्होंने इन तरीको से धन कमाया है तो वह धन उन्हें रास नहीं आएगा और वह कभी नहीं टिकेगा ।

- जो लोग दूसरों को दुःख पहुँचाकर या उनसे लड़ाई करके पैसा कमाते है और सोचते है की उस पैसे से वो अपना घर-परिवार चलाएंगे तो जान ले की ऐसा पैसा कभी नहीं फलता और ऐसे पैसे से हमेशा दूर रहना चाहिए।

- यदि आप अपने धर्म के विरुद्ध जाकर कोई गलत काम करके पैसा कमाते है तो ऐसा पैसा आपके परिवार को अलग कर देता है, आपकी संतान को बुरी सांगत और बुरी आदते दे देता है और आपका कमाया गया हुआ धन नष्ट हो जाता है ।

- यदि आप धन कमाने के लिए अपने शत्रु से मित्रता करे या फिर अपना सर झुकाकर आप किसी ऐसे इंसान के साथ काम करते है जो हमेशा आपका तिरस्कार करता हो तो ऐसा पैसा आपको कभी कोई ख़ुशी नहीं दे पाता ।

महाभारत में एक श्लोक है

अतिक्लेशेन येर्था: स्युर्धर्मस्यातिक्रमेण वा।

अरेर्वा प्रणिपातेन मा स्म तेष मन: कृथा:।।

 

इस श्लोक का अर्थ है कि जो पैसा दूसरों को दुःख देकर, धर्म के विरुद्ध जाकर या फिर शत्रु के सामने अपना स्वाभिमान खोकर कमाया गया हो, ऐसा धन कमाने से व्यक्ति और भी गरीब बन जाता है और वह जीवन में कभी सुखी नहीं रह पाता ।