चप्पल टूटना या खोना है आने वाले दुर्भाग्य का संकेत है, करें ये उपाय!

1028.jpg

लेखक: सोनू शर्मा


कहते है की सभी ग्रहो में से शनि को सबसे क्रूर ग्रह माना जाता है जिसके कुप्रभाव से कोई नहीं बच सकता । शायद आप नहीं जानते होंगे की हमारे शरीर में शनि का प्रभाव पैरों पर होता है और यदि आपकी चप्पल टूट जाए या खो जाए तो इस संकेत को समझ जाए की ये आप पर आने वाली समस्याओं की ओर इशारा है ।

यदि किसी व्यक्ति की चप्पल बार बार खोने लगे तो ये व्यक्ति के आने वाले कल के लिए बहुत बुरा संकेत है और दर्शाता है की उसे बहुत से संकटो का सामना करना पड़ सकता है ।

ज्योतिष शास्त्र में चप्पल का बार-बार टूटना भी व्यक्ति पर शनि दोष की संभावना को व्यक्त करता है और आर्थिक हानि होने का भी संकेत देता है । अक्सर देखा गया है यदि किसी की कुंडली में शनि अशुभ स्थिति में हो तो व्यक्ति के जूते चप्पल टूटने या खोने लगते है और इसी तरह शनि अपने कुप्रभाव का संकेत देता है ।

शनि को न्याय का देवता कहा जाता है और माना जाता है की यह हमारे बुरे कर्म का फल हमे देता है इसलिए इसके बुरे प्रभाव से बचने के लिए हमे अपने बुरे कर्मो के लिए शनि से क्षमा प्रार्थना करनी चाहिए तथा कुछ उपाय भी करने चाहिए –

-    शनिवार शनि का दिन होता है और इस दिन एक बर्तन में सरसों का तेल लेकर उसमें अपना चेहरा देखे और फिर उसे दान कर दे । ऐसा करने से शनि देव बहुत खुश हो जाते है ।

-    शनिदेव हमेशा जरूरतमंदों की सहायता करते है और उनको प्रसन्न करने के लिए आप गरीबों की मदद करे ।

-    पीपल के पेड़ की पूजा करे और पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाने से भी आपको अपनी परेशानी से निजात मिल सकती है ।