अगर आप सीधा या इस तरह सोते हैं तो जरुर पढ़े ये ख़बर, वर्ना पछताएंगे आप!

1008.jpg

लेखक: सोनू शर्मा


हर किसी व्यक्ति का सोने का तरीका अलग होता है, किसी को सीधे लेटकर अच्छी नींद आती है और किसी को उल्टा लेटकर । समुद्रशास्त्र  के हिसाब से व्यक्ति के सोने के तरीके का उसके शरीर परबहुत असर पड़ता है –

पीठ के बल सोना - पीठ के बल सोने से व्यक्ति को अच्छी नींद आती है और इस पोजीशन में सोने से व्यक्ति का पोस्चर भी ठीक रहता है और उसके चेहरे पर झुर्रियां भी नहीं आती । लेकिन इसपोजीशन में संभव है की व्यक्ति के खर्राटे या तनाव बढ़ जाए ।

बांयी करवट सोना - डॉक्टर्स से हिसाब से ये पोजीशन सोने के लिए सबसे अच्छी होती है और ऐसे सोने से व्यक्ति को दिल की बीमारी, पेट की समस्या जैसे गैस, एसिडिटी या कोई दिमागी परेशानी में आराम मिलता है और व्यक्ति चैन की नींद सो पाता है ।

दायीं करवट सोना - दायीं करवट सोना सेहत के लिए बहुत हानिकारक होता है क्युकी ऐसे सोने से बॉडी के टॉक्सिन्स बहार नहीं निकल पाते और शरीर में ही रह जाते है जिसका सीधा असर व्यक्ति केदिल पर पड़ता है और हार्ट रेट बढ़ जाती है ।

पेट के बल सोना - कभी भी पेट के बल नहीं सोना चाहिए क्युकी यह शरीर को बहुत नुक़सान पहुँचता है और इस पोजीशन में सोने से पेट, गर्दन तथा रीढ़ की हड्डी पर बुरा असर पड़ता है ।

 

व्यक्ति को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की वह सामान्य नींद जरूर ले, कम से कम ६ घंटे और ज़्यादा से ज़्यादा ९ घंटे की नींद व्यक्ति को फिट रखती है अन्यथा उसे बिमारियां घेर लेती हैं ।